Find the perfect gifts for the little hustler in your life. Turn up the tidings.
Regional News

भारत में एंटीबॉडी कॉकटेल से पहला मरीज ठीक: 84 साल के बुजुर्ग का मोनोक्लोनल एंटीबॉडी कॉकटेल दवा से इलाज, ट्रम्प ने भी इसी तरह कोरोना को हराया था


  • Hindi News
  • National
  • Corona Medicine Monoclonal Antibodies Cocktail 1st COVID 19 Patient Treated In India Gurugram Corona Drug Cocktail News Updates

Ads से है परेशान? बिना Ads खबरों के लिए इनस्टॉल करें दैनिक भास्कर ऐप

गुड़गांव24 मिनट पहले

  • कॉपी लिंक

मरीज का पिछले 5 दिन से हरियाणा के गुड़गांव के मेदांता अस्पताल में इलाज चल रहा था।

हरियाणा के गुड़गांव में 84 साल के बुजुर्ग मोहब्बत सिंह का इलाज मोनोक्लोनल एंटीबॉडी कॉकटेल दवा के जरिए किया गया। उन्हें कोरोना समेत कई सारी बीमारियां थीं। मोहब्बत सिंह एंटीबॉडी कॉकटेल दवा से ठीक होने वाले देश के पहले व्यक्ति बन गए हैं। इससे पहले पिछले साल तब के अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प को भी कोरोना पॉजिटिव होने के बाद इसी तरह ठीक किया गया था।

मोहब्बत सिंह का पिछले 5 दिन से गुड़गांव के मेदांता अस्पताल में इलाज चल रहा था। मंगलवार को उन्हें इस दवाई का पहला डोज दिया गया। मेदांता अस्पताल के चेयरमैन डॉक्टर नरेश त्रेहान ने बताया कि मोहब्बत सिंह को एंटीबॉडी कॉकटेल दवा लेने के एक दिन बाद यानि बुधवार को डिस्चार्ज कर दिया गया।

कोरोना मरीज को डोज देने के बाद अस्पताल में भर्ती की जरूरत नहीं होती
डॉ. नरेश ने कहा कि अनुभव किया गया है कि यदि कोरोना संक्रमित व्यक्ति को 7 दिन के अंदर इस दवाई का डोज दिया जाता है, तो वे 70-80% लोग जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराने की जरूरत होती है, वे घर में ही ठीक हो सकते हैं। उन्हें हॉस्पिटल जाने की जरूरत नहीं रहती। उन्होंने बताया कि मोनोक्लोनल एंटीबॉडी कॉकटेल दवा से इलाज करने का चलन सबसे ज्यादा अमेरिका और यूरोप में है।

भारत में इस दवा का दूसरा बैच 15 जून को आएगा
एंटीबॉडी कॉकटेल दो दवाओं Casirivimab और Imdevimab से मिलकर बनी है, जो किसी वायरस पर एक जैसा असर करती हैं। यह कॉकटेल एंटीबॉडी दवा में कोरोना पर समान असर करने वाली एंटीबॉडीज का मिश्रण है। इस दवा को स्विस कंपनी रोशे इंडिया ने बनाया है। इस दवा का पहला बैच सोमवार को ही भारत में लॉन्च हुआ। अगला बैच 15 जून तक आएगा।

जून तक इसके एक लाख पैकेट भारत में होंगे और इससे करीब 2 लाख लोगों को इससे फायदा होगा। ये दवा बड़े अस्पतालों और कोविड सेंटर्स को मुहैया कराई जाएगी। सेंट्रल ड्रग स्टैंडर्ड कंट्रोल ऑर्गनाइजेशन (CDSCO) ने कुछ दिन पहले ही एंटीबॉडी कॉकटेल के इमरजेंसी इस्तेमाल को मंजूरी दी है।

एंटीबॉडी के मल्टीडोज की कीमत 1.19 लाख रुपए
रोशे इंडिया ने कहा- 1200 एमजी की हर डोज में 600 एमजी Casirivimab और 600 एमजी Imdevimab है। हर डोज की कीमत 59,750 रुपए होगी। इसकी मल्टीडोज के पैकेट की अधिकतम कीमत 1.19 लाख रुपए होगी। एक पैक से दो कोरोना संक्रमितों का ट्रीटमेंट किया जा सकता है। भारत में इस एंटीबॉडी की मार्केटिंग सिपला कर रही है।

बच्चों को भी दी जा सकती है ये एंटीबॉडी कॉकटेल: डॉ. त्रेहान
हाल ही में डॉ. त्रेहान ने कहा था कि एंटीबॉडी कॉकटेल को कुछ केसेस में बच्चों को भी दिया जा सकता है। खास बात ये है कि इसके इस्तेमाल से 70% मरीजों का हॉस्पिटलाइजेशन बच जाता है। उन्होंने कहा कि इस दवा की एफिकेसी यानी प्रभाव 70 फीसदी तक है और इससे मृत्युदर को भी 80% तक कम किया जा सकता है। हालांकि, डॉक्टर त्रेहन ने कहा कि कंपनियों को इसकी कीमत कम करनी चाहिए।

खबरें और भी हैं…



Source link

Show More

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button